मिशन के अन्तर्गत क्रियान्वित की जाने वाली योजनाओं/कार्यक्रमों का क्रियान्वयन संहत औद्यानिक संहत क्षेत्रों में Cluster Approch द्वारा किया जायेगा, जिसके अन्तर्गत चयनित क्लस्टर्स में चिन्हित फसलों के लिए उत्पादन से विपणन एवं प्रसंस्करण तक की सभी सुविधायें उपलब्ध करायी जायेगीं । योजनान्तर्गत प्रस्तावित कार्यक्रमों का क्रियान्वयन भूमि एवं जलवायु की दृष्टि से औद्यानिक संहत क्षेत्रों में किये जाने योजना हेतु चयनित प्रदेश के 45 जनपदों को चयनित किया गया है। सहारनपुर,मेरठ, गाजियाबाद,आगरा, मथुरा, मैनपुरी, इटावा, फर्रूखाबाद, कन्नौज, लखनऊ, उन्नाव, रायबरेली, सुल्तानपुर, इलाहाबाद, कौशाम्बी,संतरविदासनगर,बांदा,ललितपुर,हमीरपुर,मिर्जापुर प्रतापगढ़, वाराणसी, जौनपुर, गाजीपुर, बस्ती, संतकबीर नगर , सिद्धार्थनगर, बलिया, गोरखपुर,सोनभद्र,महोबा,हाथरस,चित्रकूट,जालौन कुशीनगर,झांसी,कानपुर नगर,बुलंदशहर,सीतापुर,मुजफ्फरनगर,मुरादाबाद ,फैजाबाद,इटावा,बरेली और महराजगंज।